वजन नियंत्रण, प्रोसेस्ड फूड से बचाव और स्मोकिंग से दूरी जैसे उपाय कैंसर से बचाएंगे

वजन नियंत्रण, प्रोसेस्ड फूड से बचाव और स्मोकिंग से दूरी जैसे उपाय कैंसर से बचाएंगे
Publish Date:07 November 2019 04:31 PM

हेल्थ  जर्नल ऑफ ग्लोबल ओंकोलॉजी की रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर 20 साल में कैंसर के मरीजों की संख्या दोगुनी हो जाती है। इससे बचाव के लिए कुछ तरीके हैं जो फायदेमंद हो सकते हैं। सीनियर कैंसर सर्जन डॉ. दिग्पाल धारकर यहां 5 ऐसे उपायों के बारे में बता रहे जिनकी मदद से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से बचा जा सकता है।
वजन नियंत्रित करें
बढ़ा हुआ वजन और शरीर में जमा फैट कैंसर पैदा करने वाले कारकों को बढ़ावा देते हैं। इसलिए संतुलित वजन बनाए रखें और नियमित रूप से व्यायाम करें। खासतौर से महिलाओं में मेनोपॉज के बाद वजन बढ़ने की आशंका कई गुना बढ़ जाती है। इसलिए व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा जरूर बनाएं। अगर आपको हेवी एक्सरसाइज पसंद न हो तो रोज आधे घंटे की सैर कर सकती हैं। अाप चाहें तो बागवानी या तैराकी जैसे विकल्प चुनकर भी अपनी फिटनेस को मेंटेन कर सकती हैं।
अवॉयड करें थैरेपी
जो महिलाएं मेनोपोज के लक्षणों को कम करने के लिए बार-बार हार्मोनल थैरेपी करवाती हैं, उनमें कैंसर की आशंका अधिक होती है। इसलिए हार्मोनल रिप्लेंसमेंट थैरेपी या पोस्ट मेनोपोजल थेरेपी लंबे समय तक करवाने से बचना चाहिए। इसके कई साइड इफेक्ट भी होते हैं जो कैंसर की वजह बन सकते हैं। इस वजह से ब्लड क्लॉटिंग और स्ट्रोक या डिमेंशिया जैसी समस्याओं की आशंका भी बढ़ती है।
प्रोसेस्ड फूड से बचें
आजकल पैकेट बंद स्नैक्स या दूसरी खाने की चीजों में रंग और प्रिजर्वेटिव्स के रूप में ढेरों केमिकल्स मिलाए जाते हैं। इनमें से कुछ का जिक्र तो लेबल पर होता है लेकिन कुछ का नहीं। ये अधिकांश केमिकल्स हमारी सेहत के लिए हानिकारक होते हैं और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों की वजह बनते हैं। इसके अलावा रेड मीट की अधिक मात्रा अवॉयड करें। इसके बजाय फिश या चिकन खाएं।
खानपान का ध्यान
केमिकल फर्टिलाइजर व कीटनाशकों की मदद से उगाई गई सब्जियों, फलों और अनाज के बजाय ऑर्गेनिक भोजन खाने पर जोर दें। इनसे कैंसर का खतरा कम होता है। इसके अलावा हल्दी, लहसुन, काली मिर्च, अदरक, हरी सब्जियां और ताजे मौसमी फल जैसी चीजें खाने में शामिल करें। इन चीजों में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स कैंसर की कोशिकाओं को पनपने से रोकते हैं।
 स्मोकिंग से रहें दूर
तंबाकू चबाने से ओरल और पेंक्रियाज के कैंसर का खतरा बढ़ता है। इससे लंग्स, माउथ, गले, पेंक्रियाज, ब्लेडर, सर्विक्स, ब्रेस्ट, किडनी का कैंसर हो सकता है। अगर आप खुद स्मोकिंग नहीं करते लेकिन ऐसे व्यक्ति के साथ या पास रहते हैं जो स्मोकिंग करता हो तो भी आपको लंग कैंसर हो सकता है।
 

संबंधित ख़बरें