कश्मीर पर छलका अनुपम का दर्द, बोले- हमें जड़ से खदेड़ दिया था, मां अब वहां घर बनाना चाहती हैं

कश्मीर पर छलका अनुपम का दर्द, बोले- हमें जड़ से खदेड़ दिया था, मां अब वहां घर बनाना चाहती हैं
Publish Date:06 November 2019 05:18 PM

बॉलीवुड . अभिनेता अनुपम खेर का कहना है कि उनकी मां दुलारी खेर कश्मीर में अपना घर बनाना चाहती हैं। एक अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट से हुई बातचीत में 64 वर्षीय अभिनेता ने यह बात कही। दरअसल, वे कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाए जाने को लेकर बात कर रहे हैं। उनके मुताबिक, सरकार का यह फैसला उनके लिए अहम मायने रखता है। क्योंकि, 1990 में जिन पंडितों को वहां से निकाला गया था, उनमें उनका परिवार भी शामिल था।

हमें जड़ से निकाल फेंक दिया गया था: अनुपम
अपना दर्द जाहिर करते हुए अनुपम ने कहा, "हमें पूरी जड़ से निकाल के फेंक दिया गया था। इसलिए वहां से आर्टिकल 370 का हटना हमारे लिए अलग ही मायने रखता है। मेरी मां हमेशा इसके बारे में बात करती रहती हैं। क्योंकि उनका बचपन और जवानी कश्मीर में ही बीती। मेरी जिंदगी के 20 सालों में मैंने गर्मी की छुट्टियां वहां मनाईं। मेरे चाचा-चाची, दादा-दादी और पैरेंट्स वहां रहते थे।"

'पीएम का शुक्रिया अदा करती हैं मां'
अनुपम आगे बताते हैं, "मां कहती हैं कि वे अब वहां जाना चाहती हैं। वे प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी को शुक्रिया अदा करते नहीं थक रही हैं। वे कहती हैं, 'अब हम जाएंगे। मुझे अपना घर वहां बनाना ही है।' उम्मीद है कि उनके जीतेजी ऐसा होकर रहेगा।"

'दर्दभरी यादें नहीं जातीं'
कश्मीरी पंडितों को निकाले जाने की घटना पर अनुपम कहते हैं, "मेरे लिए वह एक इंसिडेंट नहीं, यह मेरा अस्तित्व है। यह ऐसा नहीं कि आप एक किराए के घर में रहते थे और मालिक ने आपको घर से निकाल दिया। हम 300-400 हजार लोगों की बात कर रहे हैं, जिन्हें 19 जनवरी 1990 की रात उनके घर से बाहर निकाल दिया गया था। यह एक घाव है, जिसका निशान हमेशा रहेगा। कभी-कभी घाव से निजात मिल जाती है, लेकिन उसकी दर्दभरी यादें नहीं जातीं।"

अनुपम ने आगे कहा,  "यह उन लोगों का लचीलापन है कि वे हथियार नहीं उठाते या हिंसक नहीं होते। उन्होंने सिर्फ स्थिति का सामना करना सीखा है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि जिन्हें अपने घरों से बाहर फेंक दिया गया था, वे सबकुछ भूल गए हैं।"

पिछली बार एयरपोर्ट पर रोक दिया गया था
अनुपम कहते हैं कि कश्मीर से उनके परिवार को खदेड़े जाने के बाद वे वहां जा चुके हैं। उनके मुताबिक, "पिछली बार जब मैं वहां गया था तो मुझे एयरपोर्ट पर ही रोक दिया गया था। उससे आगे जाने की अनुमति नहीं दी गई थी। इस घटना का जिक्र मैंने अपनी ऑटोबायोग्राफी में भी किया है।"

अगस्त में लॉन्च हुई ऑटोबायोग्राफी
बड़े पर्दे पर आखिरी बार 'वन डे: जस्टिस डिलीवर्ड' में नजर आए अनुपम खेर इन दिनों अमेरिकी टीवी 'न्यू एम्स्टर्डम' के दूसरे सीजन में नजर आ रहे हैं। इसके लिए उनका ज्यादातर समय न्यूयॉर्क में बीत रहा है। करीब 4 महीने के गेप के बाद वे हाल ही में दिवाली मनाने भारत लौटे थे। अगस्त में उनकी ऑटोबायोग्राफी 'लेसंस लाइफ टॉट मी अननोइंगली' लॉन्च हुई थी। 

संबंधित ख़बरें